कोविड- 19 के संभावित प्रकोप को देखते हुए दिये चिकित्सा संस्थानों पर पर्याप्त मात्रा में दवाई रखने के निर्देश,स्वास्थ्य कमर्चारियों को कोविड सैम्पलिंग बढ़ाने के दिये निर्देश

0
193

पिण्डवाड़ा ब्लॉक के स्वास्थ्य कर्मचारियों ली बैठक

पिण्डवाड़ा/सिरोही– चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के पिण्डवाड़ा ब्लॉक के चिकित्सा अधिकारियों व महिला स्वास्थ्य कार्यकताओं की ग्रामीण क्षेत्र में धरातलीय स्तर व अन्तिम छोर तक संचालित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के कार्यक्रमों की प्रगति रिपोर्ट की समीक्षा बैठक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश कुमार की अध्यक्षता में पिण्डवाड़ा में आयोजित हुई। बैठक में पिंडवाड़ा ब्लॉक में संचालित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं, कार्यक्रमों के बारे में अब तक कि प्रगति रिपोर्ट बीसीएमओ डॉ. भूपेंद्र प्रताप सिंह राठौड़ ने सीएमएचओ डॉ. राजेश कुमार को जानकरी दी।
सीएमएचओ डॉ. राजेश कुमार ने बैठक में स्वास्थ्य कर्मचारियों को निर्देश दिये कि संभावित कोविड के प्रकोप को देखते हुए ब्लॉक के सभी चिकित्सा संस्थानों पर आवश्यक दवाईयां पर्याप्त मात्रा में स्टॉक रखे, ऑक्सीजन कंसटेटर को संचालित करते रहे साथ ही सीएचसी पर ऑक्सीजन प्लांट की मॉनिटरिंग व चेकअप करते है जिससे आवश्यकता होने पर आमजन को समय पर सुविधा मिल सके। उन्होंने बताया कि कोविड टीके से वंचित लोगों के निर्धारित डोज व प्रीकॉशन डोज शत प्रतिशत लगवाए। साथ ही सर्दी जुकाम के मरीजों की कोविड सैंपलिंग लेने के निर्देश दिये।


उन्होंने सभी चिकित्सा संस्थानों पर सरकार के नियमानुसार निशुल्क दवाई उपलब्ध हो साथ ही संस्थान पर 3 माह का स्टॉक भी अपने संस्थान पर रखने के लिए सभी चिकित्सा अधिकारी प्रभारी को निर्देश दिये। उन्होंने ने ब्लॉक के जननी शिशु सुरक्षा व राजश्री योजना का बकाया भुगतान समय पर के निर्देश चिकित्सा अधिकारी प्रभारियों को दिया साथ ही ब्लॉक के प्रत्येक उपस्वास्थ्य केन्द्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर संदिग्ध टीबी मरीज के सैम्पल लेने के साथ पॉजिटिव मरीज के बैक खाता संख्या ऑनलाइन करावे जिससे 6 माह तक प्रत्येक माह 500 रुपये का फायदा मिल सके।
डिप्टी सीएमएचओ (परिवार कल्याण) डॉ. महेश गौतम ने बैठक में बताया कि माता एवं शिशु के बेहतर स्वास्थ्य हेतु पहले बच्चे मे 2 साल और दूसरे बच्चें मे 3 साल का अन्तराल रखने के लिए अंतराल साधनों को अपनाने की बात की। उन्होंने बताया की परिवार कल्याण के स्थाई व अस्थाई साधनों के बारे में अधिक से अधिक लोग को बताये साथ उपयोग में लाने के बारे में जानकारी प्रदान करने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने ब्लॉक के चिकित्सा अधिकारीयों को परिवार कल्याण के साधन अपनाने वाले लाभार्थी को समय पर प्रोत्साहन राशि देने के आवश्यक निर्देश दिये।

जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विवेक कुमार ने ब्लॉक स्तरीय बैठक में बताया कि गर्भवती महिला की अनिवार्य 4 जाँच समय रहते करना आवश्यक व संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देना साथ गर्भवती महिला व बच्चों का टीकाकरण शत प्रतिशत करना साथ पीसीटीएस सॉफ्टवेयर में समय पर एंट्री करवाने के सभी चिकित्साकर्मी को निर्देश दिये। बैठक के दौरान पीसीटीएस सॉफ्टवेयर के पेंडिंग कार्य को समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिये। साथ ही एचबीएनसी और एचबीवाईसी में जिन जिन चिकित्सा संस्थाओं के ड्राप ऑउट बच्चों के बारे में समीक्षा की गई एवं उनमें अपेक्षित सुधार के लिये उपस्थित सभी ब्लॉक के स्वास्थ्य कर्मचारियों को जानकारी प्रदान कर दिशा निर्देश प्रदान किये गए।साथ ही शक्ति दिवस के बारे में विस्तृत जानकारी प्रादन की गई। बैठक डीपीएम नरेश कुमार, जिला एपिडेमियोलॉजिस्ट धनीराम झा, डीएसी सी. आर. लोहार, चिरंजीवी डीपीसी डॉ. संजय नवल के साथ ब्लॉक के सभी चिकित्सा अधिकारी प्रभारी, एलएचवी, एएनएम, कंप्यूटर ऑपरेटर, अन्य अधिकारी एवं कार्मिक उपस्थित रहे।

SL News Rajasthan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here